सन्यास को अपनाए, अपराध ना बनाए – ओशो

Osho – Meditation & Sanyas

ओशो का संन्यास के बारे में अलग ही सोच विचार रहा है | ध्यान के बिना आप आंतरिक शांति नहीं पा सकते और सन्यास भी जीवन के लिए बहुत जरुरी है | ओशो ये अच्छे से जानते थे कि बदलते वक़्त के साथ बदलना भी जरुरी है वरना सन्यास नाम कही इस दुनिया में खो ना जाए | ओशो हमेशा से ही पारम्परिक सन्यास और सन्यासियों के खिआफ थे | ओशो ने दुनिया को सन्यास का सही अर्थ समझाया – ओशो कहते है कि सन्यास मानवता की आत्मा है | उसे बचाया ही जाना चाहिए | अब सन्यास को नए रूप में आना होगा | सन्यास को पूरी दुनिया में फैलाना है | संसार में उसकी जड़े होगी और उसकी सुवास आकाश में फैलेगी | ओशो ने सन्यास देना शुरू किया और उन्होंने सबसे पहले सन्यास दिया “माँ आनन्द मधु” को 24 सितम्बर 1970 में | Continue reading “सन्यास को अपनाए, अपराध ना बनाए – ओशो”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Osho on Buddha – बुद्धत्व को जानो -ओशो

दोस्तों Osho के बारे में कौन नहीं जानता है | ओशो मैडिटेशन गुरु के नाम से भी famous है | आज हम आप को The Heart Sutra 1978 में दिए गए कुछ ख़ास osho ज्ञान के बारे में बताएंगे  Continue reading “Osho on Buddha – बुद्धत्व को जानो -ओशो”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

कहानी एक बुजुर्ग जोड़े की -भाग २

अभी तक आपने पढ़ा नीरज के बारे में, उसके परिवार के बारे में, और उसके स्वभाव और काम के बारे में, अब पढ़िए इस कहानी के अगले किरदार यानि की उस लड़की के बारे में जो नीरज से जुड़ी हुई है |

भाग -१ को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

उस लड़की का नाम था चित्रा सिंह | चित्रा एक जमीदार परिवार में जन्मी थी जो पैसे में काफी संपन्न थे और उसके पिता भोला सिंह एक प्रसिद्ध व्यापारी भी थे | चित्रा के पिता एक बहुत ही कट्टर परिवार के जमीदार थे और आन मान और शान के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते थे | चित्रा की माँ तुलसी देवी बहुत ही सात्विक स्वाभाव की थी | घरेलु काम में माहिर होने के साथ साथ वो सामाजिक कार्यो में भी काफी दिलचस्पी रखती थी | चित्रा की एक बहन भी थी जिसका नाम था आतिया सिंह वो चित्रा से २ साल बड़ी थी और एक भाई था रमेश सिंह जो चित्रा से ५ साल बड़ा था | Continue reading “कहानी एक बुजुर्ग जोड़े की -भाग २”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Don’t ignore these behaviors in children – बच्चो की इन बातो को ना करे नजर अंदाज

भाई बहनो में लडाई

भाई बहनो में लडाई होती है पर वो एक सीमा तक होनी चाहिये अगर बच्चो की लडाई हद से ज्यादा हो रही है तो माता पिता को इस का ध्यान देना चाहिये उनको कोशिश करनी चाहिये कि भाई बहनो और दुसरो बच्चो में हमेशा प्यार बना रहे बच्चो के साथ ऐसे खेले कि उन्हें एक दुसरे के प्रति प्यार मह्सुस हो बच्चो को ऐसी कहानिया सुनाए जो उन्हें प्यार दुसरो की मदद कराने कि सीख दे बच्चो के साथ होए Continue reading “Don’t ignore these behaviors in children – बच्चो की इन बातो को ना करे नजर अंदाज”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Pain Less delivery is possible without medicine – Osho

From Labor pain to Labor bliss

A doctor called Lamaze has trusted in human consciousness and managed thousands of painless deliveries of babies for women. This method is of “Conscious cooperation” that the mother tries to cooperate meditatively, during the delivery. She welcomes it, does not fight against it. The pain is produced is not because of the childbirth but because of the fight the mothers makes it. She tries to resist the whole mechanism of childbirth. Continue reading “Pain Less delivery is possible without medicine – Osho”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Inspiring Stories by Osho & Zen

“Do Good For Others, It Will Come Back To You”

 Stories can teach a big lesson in a very simple manner. Here are some inspiring stories were given by Osho and Zen which help you to understand life more clearly. Continue reading “Inspiring Stories by Osho & Zen”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Why has marriage failed – Osho

osho
“Why has marriage failed? In the first place, we raised it to unnatural standards. We tried to make it something permanent, something sacred, without knowing even the abc of sacredness, without knowing anything about the eternal. Our intentions were good but our understanding was very small, almost negligible. So instead of marriage becoming something of a heaven, it has become a hell. Instead of becoming sacred, it has fallen even below profanity. Continue reading “Why has marriage failed – Osho”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Birthday special on OSHO : Some truth about him

Birthday special on OSHO : Some truth about him

ओशो एक ऐसा नाम है जिसने जहां एक ओर सम्पूर्ण विश्व के रहस्यवादियों, दार्शनिकों और धार्मिक विचारधाराओं को नया अर्थ दिया। आध्यात्म और संन्यास की नई परिभाषा गढ़ी। ओशो फिलॉसफी के टीचर थे वो अपने विचारों से धर्म को चुनौती देते हैं।

मध्य प्रदेश के गांव कुछवाड़ा में 11 दिसंबर को जन्मे ओशो का पारिवारिक नाम रजनीश चंद्र मोहन था। 1975 में ओशो संस्कृत के लेक्चरर के तौर पर रायपुर विश्वविद्यालय में पढ़ाने लगे। वहां उनके विचारों को युवाओं के लिए अच्छा न मानते हुए उनका ट्रांसफर कर दिया गया। जिसके बाद अगले ही साल उन्होंने जबलपुर यूनिवर्सिटी में दर्शनशास्त्र के प्रवक्ता के रूप में काम करना शुरू कर दिया। Continue reading “Birthday special on OSHO : Some truth about him”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Osho on children – minimum possession – freedom – awareness

Children are born innocent. Children are truth full, joy full and full of curiosity. They want only to be loved, to learn, and to contribute. This is true that Children are our future so we need to spend more time on nourishment and development of our children. Children bring freshness into the world. Children are new editions of consciousness. Children are fresh entries of divinity into life. Be respectful, be understanding. Now a day’s everyone wants to teach their children to be ahead in this competitive world. Continue reading “Osho on children – minimum possession – freedom – awareness”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

All roads lead to God

Religion in India is characterized 2008 by a diversity of religious beliefs and practices. India is the birthplace of some of the world’s major religions; namely Hinduism, Buddhism, Islam, Jainism, and Sikhism. India has a different religion so they have different God. But in humanity, God is only one that is “be a helping hand to others”. True worship of God includes, love one another, for our love, comes from God himself. If you have a love for others then you know God and them who don’t have love doesn’t know God. We can feel God in our hearts, we can see God in the eye of an innocent child, and we will see him by loving one another. Continue reading “All roads lead to God”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones