Hindi Poem – हर इंसान अलग

सोच अलग व्यवहार अलग,

ज़ीने का अंदाज़ अलग

कुछ अलग है हम सब में,

फिर भी एक से दिखते है Continue reading “Hindi Poem – हर इंसान अलग”