एक छोटे से कुत्ते के बड़े दिल की कहानी

एक कुत्ता था वो अपने भाई बेहनो में सबसे बड़ा था, एक बार कि बात है वो सभी एक साथ खेलते खेलते जंगल में भटक गए तभी वहा एक भेड़िया आ गया, पर उसको किसी भी छोटे कुत्ते ने नही देखा सिर्फ़ बड़े वाले ने देखा, उसने देखा कि भेड़िया छोटे कुत्तों कि तरफ़ घूरता आगे बढ़ता जा रहा है तभी

उसने अपनी जिम्मेदारी समझी और भेड़िया पर हमला कर दिया यह देख सभी उसके छोटे भाई डर गए और एक बिल में जाकर छुप गए, भेड़िया बिल के आस पास कुत्ते के बच्चो को खोजता रहा, तभी बड़ा वाला कुत्ता उसपर फिर से चढ़ गया और उसे काटने लगा इससे वो भेड़िया घुस्सा गया और कुत्ते पर हमला कर दिया तब उस कुत्ते ने सबकी जान बचाने के लिए जंगल के और अन्दर भागने लगा और भेड़िया उसके पीछे पीछे भगता रहा, उसी समय कुत्ते ने दिमाग लगाया और भागते-भागते वो पहाड़ पर चढ़ गया और वहा से छलांग लगाकर पेड़ के पास छुप गया उसी समय वो भेड़िया भी वहा आ गया और उसने भी छलांग लगा ली पर उसकी रफ्तार तेज़ होने के कारण वो रुक नही पाया और पहाड़ से नीचे जा गिरा, बेचारा कुत्ता थका हारा जख्मी हालत में अपने भाइयों के पास पहुंचा और सबको लेकर घर चला गया, यह सुन सभी ने उसकी बहुत तरीफ की और उसको सरदार घोषित कर दिया |

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

5 thoughts on “एक छोटे से कुत्ते के बड़े दिल की कहानी”

  1. Wow,Fantastic article,it’s so helpful to me,and your blog is very good, I’ve learned a lot from your blog here,Keep on going,my friend,I will keep an eye on it,One more thing,thanks for your post!

  2. I simply want to tell you that I’m very new to blogging and definitely savored this web page. Likely I’m going to bookmark your blog post . You definitely have very good articles. With thanks for revealing your blog.

  3. I do agree with all of the ideas you’ve presented in your post. They’re really convincing and will definitely work. Still, the posts are very short for beginners. Could you please extend them a little from next time? Thanks for the post.

  4. Thank you, I’ve recently been searching for info about this subject for a while and yours is the greatest I’ve came upon so far. However, what in regards to the bottom line? Are you certain in regards to the supply?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *