ए पी जे अब्दुल कलाम का सन्देश देश के युवाओ के नाम

apjabdulkalam

ए पी जे अब्दुल कलाम वो नाम है जिसको सुनते ही सब के दिलो में इज्ज़त का भाव आ जाता है | वो नाम है जिसके याद आते ही सब के दिल में इंसानियत एक बार फिर जन्म लेती है | ज़मीन से जुड़े रहना और कड़ी मेहनत करना जिसने हम सब को हमेशा ये पाठ सिखलाया है वो है हमारे प्यारे अब्दुल कलाम जी | कड़ी मेहनत, सच्ची लगन, नेक दिल, इंसानियत धर्म को मान ने वाला, हर इन्सान की मदद करने वाला ये सब तो बस कुछ चंद गुण ही थे कलाम जी के, उनके अंदर तो गुणों का सागर था | उनके पास सब कुछ था पर नहीं था तो बस अहंकार | बहुत ही सरल और सहज व्यक्ति थे कलाम जी | कलाम जी दिखावे से दूर और तारीफों के शोर से बहुत दूर ही रहना पसंद करते थे |

ए पी जे अब्दुल कलाम मानते थे कि हर इंसान को भगवान ने किसी ख़ास मकसद से बनाया है | उनका कहना था की मैने अपने जीवन में जो भी पाया है वो भगवान की मदद से ही पाया है | भगवान ने अपना आशीर्वाद मुझे मेरे जीवन में जितने भी अध्यापक आए उनके रूप में दिया | कलाम ने अपनी किताब विंग्स ऑफ़ फायर (Wings of Fire) में लिखा है कि :

“सारे राकेट और मिसाइल भगवान का ही काम है जो उन्होंने एक छोटे से इन्सान के जरिये किया उसका नाम है कलाम”

कलाम जी का मानना था कि भारत को कभी खुद को कमज़ोर नहीं समझाना चाहिए | हम सभी भारतीय अपने अंदर परमात्मा की आग लेके जन्मे है, हमें इस आग को पंख दे कर दुनिया को अच्छाई से भरना चाहिए | वे मानते थे कि देश लोगो से बना है और हम सभी की मेहनत से ही देश आगे बड सकता है | देश के युवाओ को प्रेरणा देने के लिए ही उन्होंने “इग्नाइटेड माइंड” “Ignited Mind” नाम की किताब लिखी | कलाम जी का मानना था कि हमारे भारत देश में बहुत सारी प्राक्रतिक सम्पति है | बिहार, झारखण्ड, त्रिपुरा, असम जैसे बहुत से राज्य प्राकृतिक सम्पति के मामले में धनी है | मगर हम उस प्राक्रतिक सम्पति का सही इस्तेमाल नहीं कर पा रहे है | हमें सोचने की जरुरत है कि हम कहा गलती कर रहे है ?

जरुर पढ़े : Quotes of A.P.J Abdul Kalam

ए पी जे अब्दुल कलाम का सन्देश

कलाम जी का सन्देश देश के युवाओ के लिए था कि चलने की शुरुआत करे (Start Moving) और सदा चलते रहे | युवाओ को उन बातो और उन विचारो से दूर रहना चाहिए जो उनको सफल bussiness man बनने से रोकते है | उन विचारो से दूर रहे जो सुरक्षित चलने की सलाह देके आप को risk लेने से डराते है | हार के डर से कई युवा अपने सपनों को पूरा करने का काम ही नहीं करते | कलाम जी का ये विश्वास था कि अगर आप अपने जीवन के लक्ष्य पर विश्वास करते है तो आप के सपने हकीकत में जरुर बदलेंगे |

जरुर पढ़े : Inspiring Stories and Last wish of Dr. A.P.J. Kalam (Missile Man)

कलाम जी को अपने भारत देश पर पूरा विश्वास था | उनका मानना था कि हमारे भारत देश में सब है जो हमें चाहिए चाहे वो लोग हो या काम करने का हुनर या प्राकर्तिक सम्पति | संसाधनों की कमी की परशानी नहीं है हमारे देश को मगर उन संसाधनों को कैसे इस्तेमाल करना है जिस से देश को फायदा हो इस तरह की सोच की कमी है | कोई दूसरा देश कभी भी हमें मदद करने नहीं आएगा | हमें ही अपनी परेशानियों का हल निकालना होगा |

कलाम जी की लिखी हुई कविता –

जीवन का पेड़

तुम, इन्सान मेरी बेहतरीन रचना हो

तुम, जीओ और जीओ

और दो ओर दो जब तक तुम साथ हो

सुख में और दुःख मे

मेरा आनंद तुम में जन्म लेगा

प्यार सातत्य है जो इंसानियत का लक्ष्य है तुम हर दिन देखोगे जीवन के पेड़ में तुम, सीखो और सीखो सृष्टि के मेरे सबसे अच्छे

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Leave a Reply

Your email address will not be published.