बच्चो से सीखे अपने सपनो को पूरा करने की जिद्द

learn from children

अपने सपनो पर विश्वास रखे

जब आप छोटे थे तब आप कोई भी काम करने से पहले ये नहीं सोचते थे कि ये हो पाएगा की नहीं उस काम को करने के बाद क्या अंजाम होगा इन सब बातो को सोचना तो दूर, इन बातो की तरफ ध्यान ही नहीं जाता था | तभी हम सब अपने बचपन में वो सब काम भी कर जाते है जो काम आज हमारे लिए करना संभव ही नहीं | जब हम छोटे होते है तब हमारे लिए सब कुछ possible होता है कभी हम Super man बन जाते है तो कभी हम बहुत ऊपर से छलांग लगा लेते है | हम डरते नहीं है क्युकी हम उस काम को करने से पहले उसके अंजाम का नहीं सोचते इसीलिए उस काम को करने में हम अपनी पूरी शक्ति लगाते है | बस आप के मन में कोई काम का idea आता था तो आप कर जाते थे | बचपन में आप का belief system (इच्छा शक्ति) इतना मजबूत होता है कि आप हर काम कर जाते है | बचपन में काम करने के बाद अगर चोट भी लग जाती थी फिर भी हम उस काम को करते थे, बार बार करते थे, उस जिदी चींटी की तरह जो बार बार दीवार चढ़ती है, बार बार गिरती है मगर हार नहीं मानती क्युकी उसको सिर्फ अपना लक्ष्य ही दिख रहा होता है | जब हम बड़े होते है तो वो जिद्द कही खो जाती है |

जरुर पढ़े : सोच बड़ी कमाल बड़ा- Think Big & Be Bigger- Success Mantra

अगर किसी काम में हम पहले असफल हो जाते है तो हम सोचते है कि मुझसे नहीं हो पाएगा | मै तो कर ही नहीं सकता हूँ | मगर  बचपन में हम ऐसा नहीं सोचते थे | बचपन में हम बस उस काम को करने का सोचते थे जो काम हम करना चाहते है, वो काम हो पाएगा की नहीं ये सब बाते हमारे दिमाग में आती ही नहीं थी | लेकिन जैसे जैसे हम बड़े होते है, वैसे वैसे हम जो काम हम करना चाहते है, उस काम को करने से पहले हम उस काम के बारे में इतना सोचते है जैसे हो पाएगा की नहीं, कैसे होगा, अगर होगा भी तो क्या होगा या काम करने के बाद क्या होगा | हम अपनी सारी शक्ति उस काम के बारे में सोच सोच के व्यर्थ कर देते है | ध्यान से देखो तो जो शक्ति हमें उस काम को करने में लगानी चाहिए थी, उस शक्ति का ज्यादा भाग हम उस काम के बारे में सोचने में लगाते है |

जरुर पढ़े : सक्सेस को पाने का राज़ संदीप महेश्वरी के पास (Sandeep Maheshwari)

डरना मना है 

कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में सोच कर कभी भी डरना नहीं चाहिए |यदि हम किसी काम को करने का सोचते है और डरते डरते हम उस काम की शुरुआत करते है | जैसे ही हम उस काम की शुरआत करते है वैसे वैसे ही कुछ लोग हमें ये सलाह देते है कि ज्यादा Risk मत लेना | हम वैसे ही डरे होते है और लोगो का सुन कर हम और डर जाते है | जैसे ही हम अपना काम शुरू करते है, तो अपने काम को ओर आगे बढानें का सोचते है फिर घर परिवार को देख कर ज्यादा Risk लेने से डरते है | आप का दिमाग आज भी Creative है बस डर के कारण उस Creative attitude जो कही हमारे ही अन्दर है, हम भूल से गए है | नए idea या नए business को करने से हम डरते है | ये डर ही है जो कई लोगो को सफल होने से रोकता है | अकसर ऐसा देखा गया है कि कई लोग कहते है कि ये idea तो पहले मुझको आया था पर डर और घर की जिम्मेदारियों के कारण मैंने इस idea पर काम नहीं किया और इसी idea पर दुसरे ने काम किया और देखो वो आज कहा पहुच गया | ये डर ही है जो हमें आगे बड़ने से रोकता है |

जरुर पढ़े : अगर आप में है ये खुबिया तो आप जल्द ही बन सकते है अमीर

खुद पर सदा भरोसा रखे

ज्यादातर लोग दुसरो पे ज्यादा भरोसा करते है और खुद पर कम विश्वास जबकि ये बिलकुल उल्टा होना चाहिए | खुद पर हमेशा ही ज्यादा भरोसा होना चाहिए | आप ही है जो अपने लिए हसते है, दुःख होता है तो आप की ही आँखों से आंसू बहते है, चोट लगती है तो आप ही दर्द सहते है | जब अपने लिए सब कुछ आप ही कर रहे है तो आप खुद पर भरोसा क्यों नहीं करते | जब आप गिरने वाले होते है तो सब से पहले आप खुद ही खुद को गिरने से बचाते है कोई दूसरा नहीं फिर क्यों आप खुद के सपनो पर भरोसा ना कर के दुसरो की बातो पे भरोसा करते है | क्यों ? यदि आप को कोई idea आता है, आप उस idea को दुसरो से discuss करते है और अगर ज्यादातर लोग उस idea को ख़राब बताते है तो आप उस idea को drop कर देते है, क्यों ? क्या आप को खुद पर भरोसा नहीं | क्या पता उन लोगो को उस idea को समझने की समझदारी ही ना हो | खुद पर भरोसा कर के ही जैक मा आज इतना सफल हुआ है | जैक मा को जब ये idea आया कि कोई ecommerce portal का business खोला जाए तब जैक मा ने इस idea को अपने 24 दोस्तों के साथ discuss किया और 24 में से 23 ने जैक मा को इस idea को ड्राप करने को कहा लेकिन जैक मा को खुद पर भरोसा था, जैक मा को अपने idea पर विश्वास था | जैक मा ने उस idea पर काम करना शुरू किया और आज जैक मा Alibaba कंपनी के founder है और सफल लोगो में उन का नाम भी शामिल है | जिस तरह जैक मा ने खुद पर भरोसा करके अपने idea पे काम किया ठीक उसी तरह आप भी अपने पर विश्वास रख के आगे चले |

“बच्चो सी मुस्कान लेकर, अपने सपनों को साथ लेकर

कदम ज़रा बड़ा तो आगे, अपने दिल का तूफ़ान लेकर”

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *