हिंदी दिवस की शुभकामनाएं – गर्व से बोले अपनी भाषा

hindidivas

हिंदी भाषा के बिना हम सभी भारतीय अधूरे है | ये सिर्फ एक भाषा ही नहीं है बल्कि सभी इन्सान को दूसरें इन्सान से जोड़ने का जरिया है | भारत में हिंदी ही ऐसी भाषा है जो सब से ज्यादा बोली जाती है | 14 सितम्बर को भारत में हिंदी दिवस बहुत ही ख़ुशी के साथ मनाया जाता है |

क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस 14 सितम्बर को

हम सब ये तो जानते ही है कि 14 सितम्बर को हिंदी दिवस मनाया जाता है, क्या आप ये जानते है कि 14 सितम्बर को ही क्यों मनाया जाता है –

14 सितम्बर 1949 को ही सविधान सभा ने हिंदी को सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा का सम्मान दिया | इसी दिन हिंदी को राज्य भाषा का सम्मान दिया गया था | 26 जनवरी 1950 को हिंदी भाषा सबसे ज्यादा बोलने वाली भाषा है, इस बात पर मोहर लगी | सरकारी काम काज के लिए हिंदी को चुना गया | हिंदी भाषा का महत्व सदा बना रहे, तभी हिंदी दिवस मनाया जाता है |

कई कार्यक्रमो के साथ हिंदी दिवस को मनाया जाता है | स्कूलों में बच्चे कविता गाके या हिंदी वाद विवाद कार्यक्रम करके इस दिन को मनाते है | टीचर्स हिंदी का महत्व बच्चो को समझाती है | कालेजो में भी हिंदी दिवस मनाया जाता है और बच्चो को हिंदी का महत्व समझाया जाता है | हिंदी को हमेशा महत्व मिले क्या सिर्फ ये जिम्मेदारी स्कूल और कालेजों की है | हिंदी का महत्व सदा बना रहे ये पुरे समाज की जिम्मेदारी है | यदि हर में, हर बड़े बच्चो को समझाएं हिंदी के महत्व के बारे में तो हिंदी का महत्व कभी कम ना हो पाएगा | लेकिन सिर्फ बच्चो को समझा के और खुद अन्य भाषा को महत्व देना गलत नहीं | ये हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हिंदी भाषा का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करे |

आज कल ये भी पाया गया है कि कई लोग हिंदी भाषा बोलने में शर्म महसूस करते है या हिंदी के मुकाबले अंग्रेज़ी को ज्यादा महत्व देते है | आज कल लोग अंग्रेज़ी का उपयोग बोलचाल में ज्यादा करते है, जिससे धीरे धीरे हिन्दी के अस्तित्व को खतरा पहुँच रहा है। शायद ऐसे लोगो की सोच को बदलने के लिए ही हिंदी दिवस आज तक इसी लिए मनाया जाता है ताकि सभी हिंदी के महत्व को कभी ना भूले |

 

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *