Celebration of Holi – होली का मह्त्व

happyholi

होली (Holi) – Celebration of Holi

होली (Holi) भारत में धूम धाम से मनाई जाती है। होली (Holi) रंगों के त्यौहार है। होली (Holi) फाल्गुन महीने में पूर्णमासी के दिन मनाया जाता है।मथुरा की होली सबसे जयादा famous है। होली मनाने का तरीका हर जगह का भले अलग अलग होता है मगर मस्ती हर जगह छाई होती है हर कोए रंगों में रंगा होता है घरों से पकवनो और मिठाई की खुशबु आती है हर घर मस्ती से भरपुर होता है। भारत के अन्य festival की तरह होली (Holi) भी बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। प्राचीन पौराणिक कथा के अनुसार होली से राजा हिरण्यकश्यप की कहानी जुड़ी है।

होली का इतिहास (History of Holi)

होली (Holi) हिन्दुओ का प्राचीन त्यौहारों में से एक है। होली (Holi) का वर्णन जैमिनि के पूर्वमिमांसा सूत्र और कथक ग्रहय सूत्र में भी है।

भगवान कृष्ण रंगों से होली मनाते थे, इसलिए होली का यह तरीका लोकप्रिय हुआ। वे मथुरा और गोकुल में अपने साथियों के साथ होली(Holi) मनाते थे। आज भी वृंदावन मथुरा और जैसी मस्ती भरी होली कहीं नहीं मनाई जाती। होली वसंत का त्यौहार है और इसके आने पर सर्दियां खत्म होती हैं। कुछ हिस्सों में इस त्यौहार का संबंध वसंत की फसल पकने से भी है। कई जगह होली अच्छी फ़सल की खुशी में मनाई जाती है होली (Holi) को ‘वसंत महोत्सव’ या ‘काम महोत्सव’ भी कहते हैं।

यू तो होली (Holi) रंगों का त्यौहार है मगर हम सब इस त्यौहार को प्यार के रंगों के साथ खेले तो सोचो कितना आनंद आए। ये सब त्यौहार family में relationship को मजबुत करने के लिए मनाए जाते है । असली होली India तो तब मने जब भारत में बेटियों की कोख में हतिया बंद हो जाए। होली की खुशी तब मने जब हर घर से बहुओ के हसने की आवाज़ आए।आओ इस होली को सिर्फ़ रंगों के साथ ना खेल के बल्कि प्यार के रंगों में रंग दे। स्त्री को मान दे और सब को respect दे।

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

1 thought on “Celebration of Holi – होली का मह्त्व”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *