दयालुता का कार्य- ACT OF KINDNESS

दयालुता का कार्य – ACT OF KINDNESS कोई साधारण कार्य नहीं है पर कठिन भी नहीं है ! जीवन में हम बहुत सारे काम करते है जिससे हमें मान, सम्मान, पैसा और बहुत कुछ मिलता है पर क्या हम कोई ऐसा काम करते है जिससे दूसरो को सुख या आराम मिले !

आइये आज हम इसी बारे में कुछ चर्चा करते है दयालुता एक मानसिक अवस्था है जिसमे करने वाला भी खुश होता है और पाने वाला भी ! दयालुता कोई बोझ नहीं एक जिम्मेदारी है !

संदीप महेश्वरी (Sandeep Maheshwari) ने कहा है की यदि आप के पास कोई चीज़ ज़रूरत से ज्यादा है तो उसे बांटो , यह एक दयालुता का बहुत ही अच्छा उदाहरण है !

क्या आप जानते है टाटा अपनी आमदनी का बहुत बड़ा हिस्सा दया के काम में खर्च करते है !

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) एक बहुत ही अच्छे बल्लेबाज के साथ बहुत अच्छे इंसान भी है ! वे जब भी रस्ते में अपनी गाड़ी से कही गुजरते है तो वहा आने जाने वाले सभी लोगो को हेलमेट पहन कर गाड़ी चलाने के लिए प्रोत्सहित करते है !

यह भी पढ़े – आदते जो बदले आप का जीवन

यह बात वैसे तो बड़ी छोटी है पर अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति से पूछे जिसके घर में किसी की मृत्यु हेलमेट न पहनने की वजह से रस्ते में एक्सीडेंट की वजह से हुई हो तो वो बताए गा की इस बात की क्या कीमत है !

गौतम बुद्ध जी (GAUTAM BUDH)को कौन नहीं जनता और जो दयालुता का पाठ उन्होंने पढाया है वो पूरी दुनिया में सभी के सामने है ! उनकी दी हुई शिक्षा आज दुनिया के कोने कोने में दी जाती है !

जीवन में काम और पैसा बहुत जरुरी है लेकिन दया का भाव भी उतना ही जरुरी है ! दयालुता एक ऐसा काम है जो सभी को दिखावे के लिए नहीं दिल के लिए करना चाहिए !

यह भी जाने – बच्चो से सीखे अपने सपनो को पूरा करने की जिद्द

Sharing is caring! Share the post to your loved ones

Leave a Reply

Your email address will not be published.